अंग्रेज़ी | Hindi          

charitable trust
मुख पृष्ठ कार्पोरेट प्रोफाइलचैरिटेबल ट्रस्ट

एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट

"दया का हर शब्द दुनिया के सारे घाव भर देता है।"

श्री सुखराज बी नाहर द्वारा स्थापित एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट लोगों को उनके अधिकारों के प्रति सजग करने व उसे हासिल करने में मदद करने की धारणा पर कार्य करता है। श्री सुखराज बी नाहर के नेतृत्व में ट्रस्ट ने मानव अधिकारों और उनकी भलाई की दिशा में अनेक कार्य किए हैं।

इसके अलावा संस्थान ने चांदीवली अंधेरी पूर्व में नाहर अमृतशक्ती टाउनशिप में नाहर मेडिकल सेंटर और नाहर इंटरनेशनल स्कूल का निर्माण किया है। साथ ही भीनमाल राजस्थान में नाहर हॉस्पिटल की स्थापना करने में भी ट्रस्ट ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

इसके अतिरिक्त, ट्रस्ट ने जाति और धर्म का भेदभाव किए बिना ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले हजारों जरूरतमंद लोगों को राशन तथा भोजन उपलब्ध कराया है और मुंबई में तीन मंदिर भी बनाए हैं। संस्था ने भीनमाल के कुछ प्रमुख क्षेत्रों का सौंदर्यीकरण, पीने के पानी को विकसित करने, दो अन्य मंदिरों का निर्माण तथा विकास भवन बनाने जैसे कई अन्य विकास कार्य करते हुए स्थानीय लोगों के जीवन स्तर में सुधार लाने का प्रयास किया है।

प्रस्तुत है एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट का अब तक का सफर -

मेडिकल हेल्प / मेडिकल सहायता

  • एस बी नाहर अस्पताल में एक चिकित्सा शिविर का आयोजन
    सन २००८ में, भीनमाल में एस.बी. नाहर अस्पताल के नवीकरण के दौरान एक मुफ्त चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। २००० मरीजों का मुफ्त चेकअप किया गया और उनकी बिमारियों का परीक्षण करके निःशुल्क दवाईयों के साथ उपचार किया गया।
  • स्वर्गीय श्रीमती शांति देवी नाहर की स्मृति में चिकित्सा शिविर का आयोजन
    साल २०१४ में भीनमाल राजस्थान में एक कॉम्प्लिमेंटरी मेडिकल कैम्प आयोजित किया गया था, जिसमें 1800 मरीजों का चेकअप और इलाज किया गया।
  • सिरोही और जालोर में ब्लड बैंक की स्थापना
    रक्त/ब्लड की कमी से बिखरने वाली ज़िन्दगियों को बचाने हेतु संस्था ने जालोर और सिरोही के सरकारी अस्पतालों में ब्लड बैंक की स्थापना की।

सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर / सामाजिक संरचना में योगदान

  • राजस्थान अस्पताल, अहमदाबाद में नवीन भवन का निर्माण करना।
    चालीस साल पहले, एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने अहमदाबाद को अनुदान राशि प्रदान की थी, जिससे अस्पताल में एक नए भवन का निर्माण किया गया।
  • मोहन खेड़ा तीर्थ में में जैन भोजनशाला का निर्माण
    मोहनखेडा, राजगढ हिंदुओं का पवित्र और महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है, जहां हर दिन हजारों श्रद्धालुओं का आवागमन होता है। लगभग 45 वर्ष पूर्व, ट्रस्ट ने यहां आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए विशाल जैन भोजनालय का निर्माण कराया, ताकि उन्हें भोजन की असुविधा ना हो।
  • काबा तीर्थ में पुस्तकालय
    अहमदाबाद के समीप स्थित काबा जैन धर्मावलंबियों का प्रसिद्ध तीर्थ है। एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा वहां पर एक पुस्तक संग्रहालय का निर्माण कराया गया है और वहां पर संस्था ने धार्मिक पुस्तकों का भी दान किया है।
  • भीनमाल के लिए बाजार चौक का निर्माण
    श्री सुखराज बी नाहर के पैतृक निवास स्थान भीनमाल में ट्रस्ट ने चौक का निर्माण कराया। १९८१ में तीन बाज़ार चौक महावीर सर्किल, माघ सर्किल और गांधी सर्किल का निर्माण हुआ।
  • सरस्वती मंदिर पुस्तकालय
    संस्था के द्वारा माघ सर्किल के नजदीक एक लाइब्रेरी के साथ एक सुंदर सी देवी सरस्वती के मंदिर की स्थापना की गई है। लाइब्रेरी की स्थापना का उद्देश्य स्थानीय लोगों को समाचार पत्र और पत्रिकाएं उपलब्ध कराना है ताकि उनका ज्ञानवर्धन हो सके।
  • ग्रामीण छात्रों के लिए सरकारी विद्यालय की इमारत का निर्माण
    ट्रस्ट ने श्री सुखराज बी नाहर की माताजी स्वर्गीय श्रीमती शांति देवी बाबूलालजी नाहर की स्मृति में भीनमाल में एक विद्यालय का निर्माण कराया, जिसे सरकार द्वारा संचालित किया जा रहा है।
  • विकास भवन
    सन १९९१ में, एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने भीनमाल में एस डी एम ऑफिस के नजदीक विकास भवन का निर्माण किया गया। सभी ग्रामवासी अब सामाजिक और शैक्षणिक सभाओं के लिए इस बिल्डिंग का उपयोग करते हैं। बिल्डिंग में एक कैफेटेरिया, बैडमिंटन कोर्ट, जिम और यहां तक की बोर्ड गेम्स समेत कई सुविधाएं उपलब्ध है।
  • एसबी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट अस्पताल
    एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने भीनमाल के गांववासियों के लिए हॉस्पिटल बनाया तथा हॉस्पिटल ने तब से अपने कार्य के लिए प्रशंसा के साथ विशेष पहचान बनाई है। हॉस्पिटल का नवीनीकरण सन् 2004 में हुआ तथा इसे आधुनिक चिकित्सा सुविधाओं से सुसज्जित किया गया।
  • गांवों में प्राइमरी स्कूल बिल्डिंग
    पहले कई साधन विहीन बच्चों को अपने स्कूल पहुंचने के लिए भीनमाल तक लंबा सफर तय करना था। उनकी इस मुश्किल को आसान बनाने के लिए नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने कई छोटे - छोटे गांवों में प्राइमरी स्कूल की बिल्डिगों का निर्माण किया। 1983 से लेकर 1985 की अवधि के दौरान अर्नु, खेडा, मिंद्रावास, कूका और सेवरी गांवों में प्राइमरी स्कूल स्थापित किए गए।
  • बस स्टैंड - प्याउ
    सन १९८८ में ट्रस्ट ने सरकारी बस स्टैंड पर एक प्याउ का निर्माण किया यह भवन स्वर्गीय श्री सुरेश नहर, श्री एस.बी. नहर के छोटे भाई की स्मृति को सम्मान प्रदान करता है।

अन्य सामाजिक गतिविधियां

  • सन १९८१ से १९८५ तक, राजस्थान में भयानक अकाल पडा। इस अकाल ने लोगों तथा किसानों की आजीविका हेतु दूसरे शहरों में जाने के लिए बाध्य कर दिया। इस स्थिति में एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने गांव में चारे के निःशुल्क वितरण के साथ लोगों की सहायता की।
  • सन् २००२ -२००३ तक भीनमाल के गरीबों को निःशुल्क अनाज का वितरण किया गया।
  • साल २००६ में, भीनमाल के अनेक परिवारों को राशन किट्स और कपडे वितरित किए गए। एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने लोगों के बीच जाकर उन्हें राशन, दवाईयां, बर्तन व अन्य आवश्यक सामग्री वितरित की।
  • भीनमाल में श्री जीवदया गौशाला एक जानी-मानी गौशाला है। साल 2008 से लेकर 2009 तक एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने एक हजार गायों के पोषण व उनकी बेहतर देखभाल के सहायतार्थ एक साल के खर्च का अनुदान दिया था।
  • सन २००७ में, में भीनमाल के गरीब ग्रामवासियों के लिए निःशुल्क भोजन सुविधाओं का प्रबंध किया। यह अभियान छह से सात माह की अवधि तक चला।
  • सन २०१२ में, एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने महावीर इंटरनेशनल के ग्लोबल सेमीनार का आयोजन किया। लगभग 1500 विशिष्ट अतिथि इस उत्साह से भरे आयोजन में भाग लेने के लिए भीनमाल पधारे।
  • सन जुलाई २०१२ में, ट्रस्ट ने छात्रों के लिए एक स्कॉलरशिप का आयोजन किया। इस विशेष अवसर पर जालोर के जिला कलेक्टर की उपस्थिति में स्कूल बैग्स और एजुकेशनल किट्स का वितरण किया गया।
  • सन २०१३ में, एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट ने भीनमाल की गायत्री गौशाला में रह रही हजारों गायों का भरण पोषण और उनकी देखभाल की जिम्मेदारी उठाई।
  • सन जुलाई २०१५ में, में भीनमाल तहसील में विनाशकारी बाढ आई। उसके बाद की बर्बादी में कई लोगों ने अपनी जाने गंवाई तथा अनेक किसानो ने अपने घर खो दिए। एस बी नाहर चैरिटेबल ट्रस्ट उन लोगों के पास पहुंचकर भोजन तथा दवाओं के 2500 पैकेट्स उपलब्ध कराए।
  • सन अगस्त २०१६ में, ट्रस्ट ने भीनमाल तहसील के बाढ प्रभावित क्षेत्रों में फूड पैकेट्स और राशन सामग्री का वितरण किया।
  • सन अगस्त २०१७ में, ट्रस्ट द्वारा भीनमाल और बगोडा तहसील में फूड पैकेट्स और राशन सामग्री का वितरण किया गया।