English | हिंदी          

अध्यक्ष की मेज | नाहर अस्पताल | भीनमाल, राजस्थान

अंग्रेज़ी | Hindi          

FROM THE CHAIRMAN'S DESK
मुख पृष्ठ कार्पोरेट प्रोफाइलचेयरमैन के दो शब्द

चेयरमैन की डेस्क से / चेयरमैन के दो शब्द

‘स्वप्न देखने और उस स्वप्न के पूर्ण होने में जो अंतर है, वो वास्तविकता की कसौटी पर निर्भर है।‘
श्री सुखराज नाहर

नाहर ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर श्री सुखराज नाहर की कल्पना ने लाखों लोगों की आकांक्षा को वास्तविकता में परिवर्तित करने में मदद की है। अपने आपमें एक सच्चे उद्यमी श्री सुखराज बी नाहर अपन सपनो को साकार करने के लिए 16 साल की अल्पायु में ही मुंबई आ गए थे। मुंबई आने के बाद उन्होंने एक साहसिक यात्रा की शुरूआत की, जो अपने उद्देश्य को साझा करते हुए और सामूहिक अच्छाई के लिए काम करते हुए प्रतिभाशाली लोगों को एक टीम के तौर पर साथ लाई। उनकी यह अंर्तवर्ती दूरदृष्टि है, जिससे कारण उन्होंने केवल सीमेंट और ईंटों से बने मकान ही नहीं बनाए बल्कि ऐसे संस्थानों का निर्माण में भी किया जो समाज की भलाई में योगदान देते हैं।


श्री सुखराज नाहर: अन्य संस्थाओं से भी जुडे हुए हैं -

नाहर ग्रुप के चेयरमैन तथा मैनेजिंग डायरेक्टर होने के अतिरिक्त श्री सुखराज नाहर एक परोपकारी एवं समाज में समानता के अधिकार देने के प्रबल समर्थक हैं। वह विभिन्न संगठनों में पदों में विशेष स्थान रखते हैं

जो निम्नलिखित हैं। -
  • अध्यक्ष - जैन अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संगठन, मुंबई क्षेत्र
  • अध्यक्ष - सर्वोदय चैरिटेबल ट्रस्ट, मुलुंड
  • अध्यक्ष - मुलुंड महासंघ
  • पूर्व निदेशक - जैन अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संगठन
  • निदेशक - जैन एजुकेशन फाउंडेशन
  • कोषाध्यक्ष - एम सी एच आई - सी आर ई डी ए आई,, प्रबंध समिति
  • संस्थापक - भीममल कल्याण संघ
  • राष्ट्रपति - राजस्थानी कल्याण संघ
  • द भारत स्काउट्स एंड गाइड्स, भारत के संरक्षक सदस्य